अवलोकन

दिल्ली और अहमदाबाद में छावनियों की मूल स्थापना ब्रिटिश साम्राज्य द्वारा की गयी थी | दिल्ली छावनी, जो की दिल्ली छावनी के रूप में विख्यात है, की स्थापना 1914 में की गयी थी | फ़रवरी 1938 तक दिल्ली छावनी परिषद् को छावनी प्राधिकरण के रूप में जाना जाता था | दिल्ली छावनी श्रेणी - I की छावनी परिषद् है | दिल्ली छावनी में भारतीय सेना मुख्यालय, दिल्ली एरिया, सेना गोल्फ क्लब, रक्षा सेवा अफसर संस्थान, सैन्य निवास, आर्मी तथा एयरफोर्स पब्लिक स्कूल व विभिन्य अन्य रक्षा संबंधी प्रतिष्ठान है | छावनी में आर्मी रिसर्च एंड रेफरल अस्पताल तथा भारत की रक्षा सेनाओं का देखभाल करने वाला तीसरा चिक्तिसा केंद्र बेस अस्पताल भी है |

वर्तमान में छावनी का शासन छावनी अधिनियम 2006 तथा रक्षा मंत्रालय, भारत सरकार के समय-समय पर जारी विभिन्न नीति पत्रो तथा अनुदेषो द्वारा चलया जाता हैं | यद्यपि परिषद् एक स्थानीय नगर निकाय हैं, तथापि यह रक्षा सम्पदा महानिदेषालय, नई दिल्ली तथा प्रधान निदेषक, रक्षा सम्पदा, पश्चिम कमान, चंडीगढ़ के प्रशासनिक नियंत्रण के अधीन आता है |
छावनी परिषद् में ०८ निर्वाचित सदस्य, ०३ नामांकित सेना सदस्य, ०३ पदेन सदस्य (स्टेशन कमांडर, गैरिसन इंजीनियर तथा वरिषठ कार्यकारी चिकित्सा अधिकारी), जिला मजिस्ट्रेट का एक प्रतिनिधि, भारतीय रक्षा सम्पदा का एक अधिकारी जो की केंद्रीय सिविल सेवा से होता है, मुख्य अधिषासी अधिकारी तथा परिषद् के सदस्य सचिव के रूप में तैनाती की जाती है | परिषद् की अध्यक्षता छावनी परिषद् के अध्यक्ष द्वारा की जाती है, जो स्टेशन कमांडर होते है तथा वे छावनी परिषद् की बैठकों की भी अध्यक्षता करते हैं | निर्वाचित सदस्य का कार्यकाल ०५ वर्ष है | उपाध्यक्ष का चुनाव निर्वाचित सदस्यों में से किया जाता हैं |

छावनी अधिनियम में शिक्षा, जान स्वास्थय, सफाई, सड़क, स्ट्रीट लाइट, जलापूर्ति तथा जनम एवम मृत्यु का पंजीकरण जैसे दोनों सांविधिक तथा विवेकाधारी कार्य निर्धारित है | प्रशासन व सिविल प्रतिनिधित्व की दृष्टि से छावनी परिषद् को आठ वार्डों में बांटा गया है | छावनी लेखा संहिता, छावनी निधि सेवक नियम, छावनी भूमि प्रशासन नियम तथा छावनी सम्पति नियम जिनकी उत्पति छावनी अधिनियम से हुई है, जैसे विभिन्नं अन्य नियम भी है |

अग्निशमन, जलापूर्ति, जन स्वास्थय, स्ट्रीट लाइट, जन्म व मृत्यु पंजीकरण, बागवानी, प्राथमिक शिक्षा तथा सफाई दिल्ली छावनी परिषद् के प्रमुख विभाग हैं | दिल्ली छावनी परिषद् के विभिन्न विभाग नगर के नगरीय ढांचे को सुदृढ़ करने के लिए सामूहिक रूप से कार्य करते है |

  •  
  • क्षेत्रफल
  • 10,791.88 एकड़
  • जनसंख्या
  • 1, 10,351 (जनगणना 2011)
  • स्थान
  • अक्षांश : 28° N
    देशान्तर : 77° E
  • स्थापना वर्ष
  • 1914